परिचय

श्री ओंकार नाथ केसरवानी उर्फ ​​”ओमजी” का जन्म 04-06-1974 को कोरांव विधानसभा के खीरी बाज़ार में एक व्यवसायिक परिवार में हुआ. उनके पिता स्वर्गीय केदार नाथ केसरवानी क्षेत्र के जाने-माने व्यवसायी थे और अच्छा व्यवसाय करते थे व समाज में उनकी एक इमानदार छवि थी. सभी धर्मों की गरीब बच्चियों की शादी, शिक्षा, स्वास्थ्य हेतु सदैव आर्थिक सहयोग देते रहते थे. माता श्रीमती शिवकली देवी अत्यंत सरल व धार्मिक प्रवृत्ति की महिला रही हैं.

ओमजी ने हमेशा बड़े सपने देखे और जब तक उन सपनों को हासिल नहीं कर लिया तब तक उन्होंने बिना रुके काम किया, शिक्षा स्नातक तक ग्रहण किया. चावल का छेत्र (लेडियारी मंडी) होने के कारण उनके पिताजी ने मिनी राइस मिल की शुरुआत की जिसे बाद में ओमजी ने कड़ी मेहनत व सूझबूझ से एक बड़े राइस मिल प्लांट में अपग्रेड किया और उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश दोनों ही प्रान्तों में खुद को एक सम्मानित राइस मिलर के रूप में स्थापित किया.

श्री ओमजी बचपन से ही बहुत प्रतिभाशाली थे, कभी हार नहीं मानते थे और अभिनय में भी अच्छी प्रतिभा रखते थे. वह हर साल गाँव में खेले जाने वाली रामलीला में आर्थिक रूप से तो सहयोग देते ही थे, स्वयं अभिनय कर आज की वर्तमान पीढ़ी को प्रेरित भी करते रहे. हमेशा समाज के उत्थान के लिए खुले हाथों से गरीबों की मदद की. उन्होंने बचपन से ही क्रिकेट के साथ-साथ सामाजिक गतिविधियों में भी सक्रिय रूप से भाग लिया.

प्रारम्भ से ही ओमजी ने व्यापार व व्यापारियों के उत्थान हेतु हर स्तर पर व्यापारी समाज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलते रहे. हमेशा व्यापारियों के सम्मान की लड़ाई लड़ी, सरकार कोई भी रही हो किन्तु व्यापारी हित के लिये उन्होंने सदैव अपनी आवाज़ बुलन्द की. इस बात को दरकिनार करते हुये कि कौन किस राजनितिक दल से चुनाव लड़ रहा है, केवल हमारा व्यापारी समाज शक्तिशाली बने अनेक चुनावों में कई व्यापारी बन्धुओं को न केवल आर्थिक/शारीरिक सहयोग प्रदान किया अपितु उन्हें विजयश्री भी दिलवाया. जिसमें प्रमुख रूप से वर्तमान में उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री श्री नंद गोपाल गुप्ता “नंदी” जी हैं, जिनके साथ ओमजी का बहुत पुराना सम्बन्ध रहा है, चाहे वो किसी भी राजनितिक दल में रहे हों.

अपितु ओमजी सदैव बिना किसी संगठन/दल के सहयोग के स्वतन्त्र होकर स्व स्तर से ही व्यापारी हित का कार्य करते रहे, किन्तु उनके इस व्यापारी हित की सोच को राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन ने पहचाना और राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय अमित गुप्ता जी के विशेष आग्रह पर उन्हें अपने संगठन में प्रदेश उपाध्यक्ष का दायित्व सौंपा जिसे ओमजी ने सहर्ष स्वीकार कर लिया और आज राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय अमित गुप्ता जी के मार्गदर्शन में अपने इस अभियान को आगे बढ़ा रहे हैं.

विज़न:

श्री ओमजी ने ओम ट्रेडिंग कंपनी की स्थापना की और व्यापार में बहुतअच्छा कर रहे हैं. हालाँकि उन्हें व्यापारियों के मुद्दों का एक बड़ा अनुभव है क्योंकि लम्बी अवधि से वह एक जमीनी कार्यकर्ता के रूप में काम कर रहे हैं, जिससे व्यापारियों के बीच की तमाम छोटी-बड़ी समस्याओं से अवगत रहते हैं. ओमजी चाहते हैं कि हमारा व्यापारी समाज हर स्तर पर मजबूत व सक्षम बने.

संवाद:

ओमजी और समाज के बीच सीधा संवाद स्थापित करने और मुद्दों को तेजी से सुलझाने के लिए यह पेज एक छोटी सी शुरुआत है.

आपके विचार, सुझाव या समाज / व्यवसाय के उत्थान के लिए कोई मुद्दा हो. हम आपको आमंत्रित करते हैं इस पेज के माध्यम से आप ओमजी तक अवश्य पहुंचायें.